MP का रीवा सुकन्या समृद्धि योजना में देश में प्रथम स्थान हासिल किया : 22 दिनों के अंदर खुले 134947 बेटियों के खाते, व्हाट्सएप ग्रुप बनाकर कलेक्टर ने की समीक्षा

ख़बरों के बेहतर एक्सपीरिएंस के लिए डाउनलोड करें Rewa News Media ऐप, क्लिक करें

पीएम नरेन्द्र मोदी के बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ अभियान अंतर्गत सुकन्या समृद्धि योजना में तमिलनाडु के थिरूवल्लूर जिले को पीछे छोड़ मध्यप्रदेश का रीवा देश में प्रथम स्थान हासिल किया है। बताया गया कि रीवा जिले को सुकन्या समृद्धि योजना के तहत 85 हजार खाता खोलने का लक्ष्य दिया गया था। ऐसे में महज 22 दिनों के अंदर ही 134947 बेटियों के खाते खुल गए।

सेल्फी लेने के लिए 315 बोर का कट्टा लेकर स्कूल पहुँचा छात्र, दहशत में आये स्टूडेंट्स और शिक्षक : कट्टा जब्त कर मामला दर्ज

बता दें कि भारतीय डाल सेवा के पोस्ट आफिस कार्यालय में नवजात से लेकर 10 वर्ष तक की प्रत्येक बेटी का बचत खाता खोला जाता है। जो सर्वाधिक 7.8 प्रतिशत ब्याज देता है। ऐसे में कलेक्टर इलैयाराजा टी ने महिला एवं बाल विकास विभाग के माध्यम से 10 वर्ष तक की हर बेटी के पोस्ट आफिस में खाते खोलने का अभियान शुरू किया।

WEATHER ALERT : रीवा, सतना, अनूपपुर, उमरिया, जबलपुर, कटनी समेत इस जिलों में भारी बारिश की संभावना

सुकन्या समृद्धि योजना में प्रगति के लिए अभियान में स्कूल शिक्षा विभाग का सहयोग लिया गया। जहां 22 दिनों के अंदर रीवा जिले में 90 हजार 324 बेटियों को सुकन्या समृद्धि योजना से लाभान्वित किया गया। साथ ही पोस्ट आफिस में खाते खोलकर पासबुक अभिभावकों को प्रदान कर दी गई है। पूर्व में पोस्ट आफिस द्वारा 31 हजार 393 खाते खोले गए थे।

मौसम में बदलाव से सीजनल बीमारियां बढ़ी : अस्पताल में बेड के लिए भटक रहें मरीज : संजय गाँधी सहित सुपर स्पेशलिटी में एक भी बेड खाली नहीं

तब शिक्षा विभाग के सहयोग से 14 हजार 227 छात्राओं के खाते खुले। वर्तमान समय में 15 अगस्त तक जिले में 1 लाख 34 हजार 947 बेटियों के सुकन्या समृद्धि के खाते निर्धारित राशि जमा कराकर खुल चुके हैं। खातों की संख्या की दृष्टि से रीवा जिले ने तमिलनाडु के थिरूवल्लूर जिले को पीछे छोड़ते हुए पूरे देश में सुकन्या समृद्धि योजना में प्रथम स्थान प्राप्त किया है।

अब लड़कियों को सेना में जाने का मिलेगा मौका : एनडीए की परीक्षा में शामिल होने का मिला अवसर, फाइटर प्लेन पायलट अवनी चतुर्वेदी की मां ने जताई प्रसन्नता

85 हजार था रीवा का लक्ष्य

सुकन्या समृद्धि योजना अंतर्गत 85 हजार बेटियों के खाते पोस्ट आफिस में खोलने का लक्ष्य रीवा जिले को निर्धारित किया गया था। तब कलेक्टर इलैया राजा टी द्वारा हर सप्ताह योजना की समीक्षा की गई। महिला एवं बाल विकास विभाग के प्रत्येक परियोजना अधिकारी व पर्यवेक्षक से कलेक्टर लक्ष्य पूर्ति के संबंध में कठिनाईयों के बारे में स्वयं चर्चा करके समाधान करते रहे।

Purwa Fall में उतराया मिला युवक का शव : कड़ी मशक्कत बाद निकला शव, नहीं हुई शिनाख्त

व्हाट्सएप ग्रुप बनाकर कलेक्टर ने की समीक्षा

योजना से जुड़े अधिकारियों और कर्मचारियों का व्हाट्सएप ग्रुप बनाकर खाता खोलने की प्रगति की समीक्षा कलेक्टर द्वारा समय समय पर की गई। जिससे 22 दिनों में महिला एवं बाल विकास विभाग द्वारा 90 हजार 324 खाते खोलकर शानदार उपलब्धि अर्जित की गई। शिक्षा विभाग ने भी इस अवधि में 14 हजार 271 बेटियों के खाते पोस्ट आफिस में खुलवाये।

Powered by Blogger.