REWA : दोस्त ही बने कातिल : सड़क के किनारे 5 दोस्त बैठकर पी रहे थे शराब, फिर कुल्हाड़ी के आधा दर्जन वार से युवक की कर दी हत्या, 3 आरोपी गिरफ्तार, एक फरार

रीवा। जिले के गुढ़ थाना क्षेत्र के पुरवा गांव में मामूली बात को लेकर दोस्त ही दोस्त का कातिल बन गया। बताया गया, सड़क के किनारे 5 दोस्त बैठकर शराब पी रहे थे। फिर किसी बात को लेकर दो दोस्तों में कहासुनी हो गई। देखते ही देखते एक ने दूसरे पर कुल्हाड़ी से हमला करते हुए काट डाला। वारदात में कुल्हाड़ी के आधा दर्जन वार से युवक की मौके पर मौत हो गई।

10 किलो गांजा के साथ 2 बदमाश गिरफ्तार, मुख्य आरोपी पर NTPS एक्ट के 13 मुकदमे दर्ज

घटना के बाद ग्रामीणों ने गुढ़ पुलिस को सूचना दी। जानकारी के बाद पहुंची पुलिस ने मृतक के शव को कब्जे में लेने के बाद पीएम के लिए अस्पताल भेज दिया। जहां शनिवार की दोपहर पीएम के उपरांत शव परिजनों के सुपुर्द कर दिया गया। इधर वारदात के 24 घंटे के भीतर तीन आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया गया है। जबकि एक सहयोगी फरार है। गुढ़ पुलिस ने आईपीसी की धारा 302,294,34 का मामला दर्ज करते हुए तीनों आरोपियों को न्यायालय में पेश किया है।

गोलियों का शहर बना रीवा : बाईकर्स गैंग ने दो भाईयों पर डंडा से हमला कर मारी गोली, घायल युवक अस्पताल में भर्ती : मौके पर मिले कारतूस के दो खाली खोखे

ये है मामला

मिली जानकारी के मुताबिक गुढ़ थाना अंतर्गत मनिकवार-सीतापुर मार्ग स्थित उमेश कोल पिता फुल्ला कोल (34) निवासी पुरवा गांव आदिवासी बस्ती की शुक्रवार की शाम हत्या कर दी गई थी। मृतक उमेश कोल के भतीजे सुभाष कोल ने बताया कि राकेश कोल के दुकान के सामने मेन रोड पर 5 लोग पुरवा से रीवा जाने वाली प्रधानमंत्री सड़क के किनारे शराब पी रहे थे। शराब पीते समय किसी बात को लेकर उमेश कोल और नेता कोल के बीच विवाद हो गया।

कालेजों में एक अगस्त से शुरू होगा प्रवेश : इस बार भी रहेगी आनलाइन प्रवेश से जुड़ी सारी प्रक्रिया

गले में किया कुल्हाड़ी से हमला

मृतक के भतीजे ने पुलिस के सामने आरोप लगाते हुए बताया कि वारदात के समय चाचा उमेश कोल को तीन लोग शेरबहादुर पिता रामावतार कोल, विनोद कोल पिता रामसुंदर कोल, राकेश पिता रामसुंदर कोल पकड़े हुए थे। जबकि नेता उर्फ रजनीश कोल कुल्हाड़ी मार रहा था। सबसे पहले नेता कोल ने कुल्हाड़ी से गले पर हमला किया था। चिल्लाने की आवाज सुनकर मृतक का बेटा कुलदीप व भतीजा दौड़ा तो आरोपी ने जान से मारने की धमकी देकर लौटा दिया। इधर वारदात के बाद गुढ़ पुलिस को सूचना दी गई।

गुढ़ के पूर्वा गांव में एक व्यक्ति पर आधा दर्जन लोगों ने किया कुल्हाड़ी से हमला

17 जुलाई हुआ पोस्ट मार्टम

शुक्रवार की शाम को हत्या होने के बाद शनिवार को उसका पीएम हुआ और अंतिम संस्कार गृह ग्राम में करा दिया गया है। गांव वालों ने बताया कि वारदात के दिन एक कबाड़ी कबाड़ लेने आया था। जिसके साथ नेतवा कोल कबाड़ को लेकर गाली गलौज किया। गाली गलौज का मृतक उमेश कोल ने विरोध किया। उसने कहा कि अपने गांव में किसी के साथ इस तरह नहीं किया जाता। वहां पर नेता कोल और उमेश कोल का विवाद हुआ। जो रात तक हत्या का रूप ले लिया।

आज से रीवा- सतना समेत कई जगहों में रुक-रुककर तीन-चार दिन तक बारिश का सिलसिला शुरू

ये आरोपी हुए गिरफ्तार

गुढ़ थाना प्रभारी आराधना सिंह ने बताया कि 24 घंटे के भीतर तीन आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया गया है। जिसमे नेता उर्फ रजनीश कोल पिता बिहारी (30), शेरबहादुर कोल पिता रामावतार (39), राकेश कोल पिता रामसुंदर कोल (32) तीनों निवासी पुरवा थाना गुढ़ शामिल है। वहीं वारदात के दौरान मौजूद रहा विनोद कोल पिता रामसुंदर कोल फरार है। कहा गया कि जिस स्थान पर उमेश की हत्या की गई है। उसी जगह गांव के कुछ लोगों ने 4 साल पहले मृतक की मां की भी हत्या की थी।

Powered by Blogger.