ALERT : रीवा में भारी बारिश : तराई क्षेत्रों के निचले इलाकों पर बाढ़ का खतरा; बकिया बराज के 12 गेट खुले : जवा सहित टमस के निचले क्षेत्रों में अलर्ट

ख़बरों के बेहतर एक्सपीरिएंस के लिए डाउनलोड करें Rewa News Media ऐप, क्लिक करें

रीवा। जिले में तीन दिन से चल रही रिमझिम बारिश से रीवा जिले के निचले इलाकों में अलर्ट जारी किया गया है। बताया गया कि टमस नदी के कैचमेंट क्षेत्र में मंगलवार को हुई वर्षा से बकिया बराज के गेट खोलकर 1200 क्यूमेक्स पानी नदी में छोड़ दिया गया है।

पांच दिन से चल रही भारी बारिश के कारण तराई क्षेत्र के त्योंथर और जवा में हालात खराब : अचानक जलस्तर बढ़ने से आवागमन प्रभावित

पानी छोड़ने से पूर्व जवा सहित टमस के निचले क्षेत्रों में अलर्ट कर दिया गया है। दावा है कि बकिया बराज का जल स्तर 279.60 मीटर पर मेंटेन रखा गया है। बकिया बराज के 12 गेट खुलते ही जहां पूर्वा फॉल छलका उठा। वहीं जवा अंतर्गत पटेहरा में टमस का जल स्तर भी तेजी से बढ़ा है।

झमा झम बारिश में तीन अलग-अलग हादसों में तीन लोगों की मौत : आकाशीय बिजली की चपेट में आया वृद्ध किसान तो बोलेरो वाहन ने मासूम को कुचला

मिली जानकारी के मुताबिक मंगलवार को सतना सहित टमस के कैचमेंट ​एरिया में भारी वर्षा हुई। जिससे बकिया बराज में अचानक से पानी की आवक बढ़ी। वहीं दूसरी तरफ मंगलवार और बुधवार की मध्य रात्रि से लेकर बुधवार और गुरुवार की मध्य रात्रि तक बकिया बराज का जल स्तर 279.60 मीटर पर पहुंच गया। आनन फानन में 4 गेट बकिया बराज के खोल गए। इसके बाद भी लगातार पानी की आवक से बुधवार की शाम 12 गेट खोल दिए गए थे।

आरक्षक की पत्नी ने फांसी के फंदे में झूलकर अपनी जीवन लीला कि समाप्त, 23 जुलाई को पत्नी के साथ आया था छुट्टी काटकर

ऐसे खुले गेट

बकिया बराज के ​अधिकारियों ने बताया कि 8 गेट 50 सेमी और 4 गेट 75 सेमी की उंचाई तक खोले गए हैं। जिससे 1200 क्यूमेक्स पानी टमस में बहाया जा रहा है। हालांकि गेट की संख्या पानी के आवक के हिसाब से तय होती है। जैसे ही पानी बढ़ता है वैसे ही गेट खोल दिया जाता है।

MP के चंबल, रीवा और सागर संभाग में लगातार मूसलधार बारिश जारी, इंदौर समेत 7 जिलों में चिंताजनक स्थिति

संभाग में 457.2 मिमी औसत वर्षा दर्ज

संभाग में 1 जून से अब तक 457.2 मिमी वर्षा दर्ज की गई है। संभाग में 28 जुलाई को 38.3 मिमी औसत वर्षा दर्ज की गई। इस दिन सतना जिले में सर्वाधिक 62.8 मिमी वर्षा दर्ज की गई। वहीं संभाग के अन्य जिलों रीवा में 27.3, सीधी में 25.9 तथा सिंगरौली में 37.2 मिमी वर्षा दर्ज की गई।

रहवासियों ने लगाई गुहार : हल्की बारिश ने नगर निगम के सफाई व्यवस्था की खोली पोल कई सड़कों तथा घरों में घुस रहा पानी

सिंगरौली जिले में हुई सबसे ज्यादा बारिश

1 जून से अब तक रीवा जिले में 401.2 मिमी, सतना जिले में 380.9 मिमी, सीधी जिले में 472.6 मिमी तथा सिंगरौली जिले में 574 मिमी औसत वर्षा दर्ज की गयी है। गत वर्ष इसी अवधि में संभाग में 459.8 मिमी वर्षा दर्ज की गयी थी। जिसमें रीवा जिले में 466 मिमी, सतना में 354.6 मिमी, सीधी में 482 मिमी तथा सिंगरौली में 536.7 मिमी वर्षा दर्ज की गई थी।

बकिया बराज के खोले गए 12 गेट : तीन दिन से चल रही रिमझिम बारिश से इलाकों में अलर्ट जारी : तराई क्षेत्रों में बाढ़ का खतरा

रीवा में 401.2 मिलीमीटर औसत वर्षा दर्ज

पिछले चार दिनों से तेज गर्मी के बाद जिले भर में रूक-रूक वर्षा हो रही है। पिछले 24 घंटों में जिले की सभी तहसीलों में वर्षा हो रही है। जिले में 28 जुलाई को 27.3 मिमी औसत वर्षा दर्ज की गई। इस दिन तहसील जवा में 74, हनुमना में 31 मि.मी. तथा त्योंथर में 46 मि.मी. वर्षा दर्ज की गई। जिले में एक जून से अब तक 401.2 मिमी औसत वर्षा दर्ज की गई है।


Powered by Blogger.