REWA : देश का सर्वेष्ठ होगा बसामन मामा गौवंश वन्य विहार, सोलर प्लांट की तर्ज पर होगा गो संरक्षण का नाम : पूर्व मंत्री राजेन्द्र शुक्ल

रीवा। बसामन मामा गोवंश वन्य विहार देश का सर्वेष्ठ गोवंश संरक्षण का केंद्र होगा। जहां गोवंश के संरक्षण के साथ ही गाय के गोबर व मूत्र से बनने वाले उत्पादों के माध्यम से वन्य विहार को स्वाबलंबी बनाने का कार्य होगा। श्री शुक्ल ने कहा कि यह वन्य विहार देश में माडल के तौर पर बनाया जाएगा। 

खुले आसमान के नीचे ठंड में हाफ रहे हैं लोग, प्रशासन ने अभी तक नहीं दिलाया स्थान 

जिसके माध्यम से गोवंश को संरक्षित कर खेती को लाभ का धंधा बनाने का संदेश दिया जाएगा। इस गो संरक्षण केंद्र का देश में उसी प्रकार नाम होगा जैसे रीवा में स्थापित सोलर प्लांट का नाम है। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी भी गो संरक्षण के हिमायती हैं। उन्हें भी इस गो संरक्षण केंद्र की जानकारी दी जाएगी। 

नए अध्यक्ष के रूप में अधिक वोट पाकर विजय हुए आशुतोष तिवारी, 38 प्रत्याशियों ने अलग-अलग पदों के लिए अजमाया अपना भाग्य : कार्यकर्ताओं ने मनाया जश्र 

उन्होंने कहा कि गाय में देवताओं का वास होता है। आने वाली पीढ़ी व धरती को बचाने के लिए गाय का संरक्षण जरूरी है। उन्होंने कहा कि अच्छी नियत के साथ शुरू किया गया। कार्य जिस स्वरूप में आगे बढ़ रहा है । उक्त बात पूर्व मंत्री व रीवा विधायक राजेन्द्र शुक्ल ने बसामन मामा गोवंश वन्य विहार पुर्वा में नवनिर्मित गोशाला शेड का लोकार्पण व यज्ञशाला, नवगृह वाटिका, बायोगैस प्लांट तथा एसटीपी का भूमिपूजन कार्यक्रम के दौरान कही। कार्यक्रम सांसद जनार्दन मिश्रा, पूर्व मंत्री एवं रीवा विधायक राजेन्द्र शुक्ल तथा सेमरिया विधायक केपी त्रिपाठी की उपस्थिति में आयोजित हुआ।

खेती  को उद्योग के साथ जोड़ने की सीख ले सकेंगे गोपालकः मिश्रा

रीवा सांसद जनार्दन मिश्रा ने कहा कि यह वन्य विहार प्रेरणा का केंद्र होगा जिसके माध्यम से किसान व गोपालक खेती को उद्योग के साथ जोड़ने की सीख ले सकेंगे। उन्होंने कहा कि पूर्व मंत्री एवं रीवा विधायक राजेन्द्र शुक्ल के प्रयासों से स्थापित यह गो संरक्षण केंद्र एक प्रयोगशाला के तौर पर भी विकसित होगा। उन्होंने लोगों से इसके विकास में सहयोग की अपील भी की।

नगर निगम चुनाव : दावेदारी को लेकर कांग्रेस कार्यकर्ताओं में हुई जमकर झड़प  : वीडियो हुआ वायरल 

बनेगा आर्गेनिक हब भी

विधायक सेमरिया केपी त्रिपाठी ने कहा कि यह गोवंश वन्य विहार सिर्फ गोपालन केंद्र न होकर आर्गेनिक हब भी बनेगा। गोपालन केंद्र में वर्मी कम्पोस्ट बनाई जाएगी जो किसानों के लिए जैविक खेती में मददगार होगी।

रीवा समेत प्रदेशभर के 51 कॉलेज बंद करने की तैयारी में सरकार : देखें नाम

गाय हमारी संस्कृति का आधार

नगरीय निकाय चुनाव को लेकर सुगबुगाहट हुई तेज, कांग्रेस से इस बार युवा एवं नये चेहरा को मिल सकता है मौका 

कमिश्नर राजेश कुमार जैन ने कहा कि गाय हमारी संस्कृति का आधार है। इसके बिना जीवन की कल्पना संभव नही है। बसामन मामा गोवंश वन्य विहार सर्वेष्ठ गो संरक्षण केंद्र होगा तथा इसके माध्यम से किसानों को जैविक खेती के लिए प्रेरित करने में मदद मिलेगी। मुख्य वन संरक्षक एके सिंह ने कहा कि मानव जीवन के लिए पशुपालन, कृषि व वानिकी की महती आवश्यकता है। इस गोशाला में इन तीनों त्रिवेणी का समन्वय होगा और यह उत्तरोत्तर प्रगति करेगी।

फिर संजय गांधी अस्पताल में बड़ी लापरवाही : डॉक्टरों ने कान की जगह कर दिया दिमाग का ऑपरेशन : परिजनों ने अस्पताल में जमकर हंगामा 

माडल के तौर पर किया जाएगा तैयार

कलेक्टर डॉ. इलैयाराजा टी ने कहा कि यह वन्य विहार माडल के तौर पर विकसित किया जा रहा है। इसे आत्मनिर्भर बनाने के सभी प्रयास किए जाएगे। किसानों को वर्मी कम्पोस्ट खाद मिले और वह जैविक खेती करने के लिए प्रोत्साहित हों। इस संरक्षण केंद्र के माध्यम से किसानों को अधिक से अधिक लाभकारी बनाने के भी प्रयास किए जाएगे। गो संरक्षण केंद्र में गोवंशों का उचित प्रबंधन होगा ताकि इससे प्रेरणा लेकर जिले की अन्य गोशालाओं व पशुपालकों को सीख मिले।

नशीली कफ सीरप की तस्करी करते दो आरोपियों को घेराबंदी पर पुलिस ने किया गिरफ्तार

लगाई गई प्रदर्शनी

बसामन मामा गोवंश वन्य विहार में किसानों, पशुपालकों तथा जिले के अन्य गोशाला संचालकों को गोशाला के प्रबंधन, इसे आत्मनिर्भर बनाने, चारा विकास, जैविक खेती के महत्व आदि के संबंध में कृषि विज्ञान केंद्र के वैज्ञानिकों तथा विषय विशेषज्ञों द्वारा दो सत्रों में आत्मा प्रशिक्षण दिया गया। कार्यक्रम स्थल में गोबर एवं गोमूत्र से बने उत्पादों की प्रदर्शनी भी लगाई गई। अतिथियों ने गोशाला परिसर का भ्रमण भी किया। कार्यक्रम के अंत में आभार प्रदर्शन अध्यक्ष एवं अनुविभागीय अधिकारी सिरमौर तथा बसामन मामा गोवंश वन्य विहार संचालन प्रबंधन समिति नीलमणि अग्निहोत्री ने किया। कार्यक्रम में मुख्य कार्यपालन अधिकारी जिला पंचायत स्वप्निल वानखेड़े, डॉ. प्रभाकर चतुर्वेदी, जनपद सीईओ सिरमौर सुचिता सिंह, अरूणेन्द्र तिवारी, विनीत शुक्ला सहित बड़ी संख्या में आसपास के गांवों के रहवासी, जनप्रतिनिधिगण, विभागीय अधिकारी तथा पशुपालक व किसान उपस्थित रहे। 


हमारी लेटेस्ट खबरों से अपडेट्स रहने के लिए सोशल मीडिया प्लेटफार्म पर भी जुड़ें:

FACEBOOK PAGE INSTAGRAMGOOGLE NEWS ,TWITTER

मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ जुड़े हमसे  

Powered by Blogger.