REWA : अतिक्रमण हटाने पहुंचा प्रशासन, भाजपा के पूर्व महापौर की नहीं काम आई नेतागिरी, भारी पुलिस बल की मौजूदगी में निगम ने अवैध अतिक्रमण ढहाया

रीवा। सीएम शिवराज सिंह चौहान के द्वारा दिए गए आदेश बाद भू-माफियाओं के खिलाफ ताबड़तोड़ कार्रवाई की जा रही है. लेकिन भारतीय जनता पार्टी के नेता व कार्यकर्ता ही शासकीय कार्य मे बाधा डालते हुए दिखाई दे रहे है. रीवा जिला प्रशासन शासकीय भूमि से अवैध अतिक्रमण हटाने सामान थाना क्षेत्र मे आजाद नगर पहुचा था, जहां पर भाजपा के पूर्व महापौर शिवेंद्र सिंह ने प्रशासनिक कार्रवाई रोकने की कोशिश की.

सड़क पर पुलिस का कब्जा, मुख्य चौराहे पर है अव्यवस्था

रीवा। समान थाना क्षेत्र अंतर्गत संजय नगर में स्थित शासकीय जमीन पर किए गए अतिक्रमण को आज जिला प्रशासन मुक्त कराने पहुंचा था. इस दौरान अतिक्रमण हटाने गए प्रशासनिक अमले को विरोध का सामना करना पड़ गया. अतिक्रमणकारी के पक्ष में भाजपा नेता व पूर्व महापौर भी वहां पहुच गए और सत्ता के नशे में चूर भाजपा नेता ने कार्रवाई करने से मना कर दिया. जिसके बाद कुछ घंटे के लिए प्राशनिक अमले की सिट्टी-पिट्टी गुल हो गई. हालांकि स्थानीय लोगों के विरोध के बाद निगम प्रशासन को कार्रवाई करनी पड़ गई और घंटों की मशक्कत के बाद शासकीय जमीन को अतिक्रमण मुक्त करा दिया गया.

जिला पंचायत CEO की बड़ी कार्यवाही से मचा गया हड़कंप : जानिए पूरा मामला

अतिक्रमण हटाने पहुंचा प्रशासनिक दस्ता

सामान थाना क्षेत्र अंतर्गत संजयनगर में स्थित योगेंद्र सिंह पटेल के द्वारा शासकीय जमीन में अवैध कब्जा कर लिया गया था. जिसका विरोध सोसायटी की लोगों ने कई बार किया. कब्जाधारी योगेंद्र पटेल ने वर्ष 2013 से शासकीय भूमि पर अतिक्रमण करना शुरू किया था. आम रास्ते को अतिक्रमण से मुक्त कराने के लिए कई बार प्रशासनिक अधिकारियों से शिकायत भी की लेकिन दबंगई के चलते अतिक्रमण करने वाले पर कोई कार्रवाई नही हो पाई. जिसका विरोध करते हुए पिछले वर्ष सोसाइटी के लोग 7 दिनों तक धरने पर बैठे रहे और दबंगई व रसूखदारी के चलते अतिक्रमणकारी योगेंद्र सिंह पटेल शासकीय भूमि सहित सोसायटी के आम रास्ते पर लगातार अवैध निर्माण कराता चला गया.

विंध्य के सबसे बड़े अस्पताल संजय गाँधी की अव्यवस्था और डॉक्टरों के खराब व्यवहार की हर माह 50 शिकायतें

भाजपा नेता व पूर्व महापौर ने रोकी कार्रवाई

रीवा नगर निगम प्रशासन ने विगत दिनों योगेंद्र सिंह पटेल को शासकीय भूमि में किये गए अवैध कब्जे को खुद से हटाए जाने के लिए नोटिस जारी किया था. जिसके बावजूद भी उनके द्वारा अतिक्रमण को नही हटाया गया. आज जैसे ही प्रशासनिक अमले के साथ नगर निगम का दस्ता शासकीय भूमि से अवैध कब्जे को हटाने पहुंचा तो अतिक्रमणकारी योगेंद्र सिंह पटेल के परिजनों ने इसका विरोध करना शुरू कर दिया और कुछ ही देर बाद योगेंद्र सिंह पटेल के साथ भाजपा के पूर्व महापौर शिवेंद्र सिंह पटेल भी वहां पहुच गए. और प्रशासनिक अमले को कार्रवाई करने से मना कर दिया. कार्रवाई के दौरान पहुंचे भाजपा नेता ने कहा की पहले पूरे रीवा का अतिक्रमण हटाओ इसके बाद यहां कार्रवाई करो. हालांकि की घंटों की कड़ी मशक्कत के बाद प्रशासनिक अमले ने शासकीय भूमि को अतिक्रमण मुक्त कराया और कराए गए अवैध निर्माण को जेसीबी से तोड़ दिया गया.

शहर में अतिक्रमणकरियों की भरमार, रसूखदारों के अतिक्रमण के बारे में पढ़िए ये खास रिपोर्ट

कड़ी मशक्कत के बाद हटा अतिक्रमण

कार्रवाई के दौरान कुछ घंटों के लिए प्रशासनिक अधिकारियों की बोलती बंद हो गई. हालाकी की घंटों की कड़ी मशक्कत और स्थानीय लोगों द्वारा किए गए विरोध के बाद शासकीय भूमि पर कराए गए अवैध निर्माण को ढहा दिया गया. इस दौरान सत्ताधारी नेता का गुरूर धरा का धरा राह गया

रीवा कलेक्टर के निर्देश पर अवैध निर्माण बहुमंजिला इमारत पर चला प्रशासन का बुलडोजर


रीवा की सबसे ज्यादा पढ़ी जाने वाली खबरें 

पिता से रुपये ऐंठने स्वयं के अपहरण की पुत्र ने रची कहानी, SP रीवा ने ऐसे किया खुलासा

खेत में मिली महिला की छत-विछत हालत में लाश, रेप के बाद हत्या का आरोप












लेटेस्ट न्यूज़ से अपडेट रहने के लिए REWA NEWS MEDIA फेसबुक पेज लाइक करें

Powered by Blogger.