बहुचर्चित राज निवास रेप कांड : रीवा में रेपिस्ट महंत को मंत्री ने दिलाया था कमरा, अफसरों में मचा हड़कंप, अबतक 7 आरोपी गिरफ्तार

रीवा के बहुचर्चित राज निवास रेप कांड में अब तक 7 आरोपी गिरफ्तार हो चुके हैं वहीं एक अन्य आरोपी अभी भी पुलिस की गिरफ्त से दूर है। आपको बता दें कि बड़े अखबार दैनिक भास्कर ने यह दावा किया है कि उनके पास जो सबूत है उस पर एसडीएम अनुराग तिवारी ने महंत सीताराम को कमरा नंबर 4 अलॉट करवाया था। SDM मनोज तिवारी का कहना है कि हिस्ट्रीशीटर विनोद पांडे और उसके गुर्गों ने सर्किट हाउस पर कब्जा कर रखा था।

कांग्रेस से भाजपा में गए नेताजी और बन गए मंत्री

आपको बता दें कि बड़े अखबार दैनिक भास्कर ने हिस्ट्रीशीटर विनोद पांडे के रूम नंबर 4 को लेकर एक बड़ा दावा किया है विनोद पांडे को एसडीएम ने रूम नंबर 4 दिलवाया था। रिपोर्ट के मुताबिक माने तो राज निवास का कमरा नंबर 4 मंत्री के इशारे पर आरोपी सीताराम महंत को दिया गया था, मंत्री जी दो वर्ष पहले कांग्रेस सरकार छोड़कर भाजपा का दामन थामा था जहां शामिल होते ही वह मंत्री बन गए थे। हालांकि, तब तक यह पता नहीं चला था कि कमरा किसने बुक कराया था। अब भोपाल से ही इस पर फैसला होगा कि क्या करना है।

जवाब गोलमाल इशारा साफ

आपको बता दें कि महंत सीताराम दास को मंत्री के कहने पर रूम नंबर 4 अलॉट हुआ था जहां जांच के दौरान मंत्रियों की भूमिका पता चलने के बाद अफसरों के हाथ-पांव फूलने लग गए, अपना बचाव करने में अफसर जांच पर लिपा पोती करने में लग गए।

बड़ा सवाल क्या अपराधियों के सह पर चल रहा था रीवा राज निवास?

आपको बता दें कि रूम नंबर 4 को बुक करने के लिए मंत्री का नाम सामने आ रहा है जहां वह 2 साल पहले कांग्रेस सरकार छोड़कर भाजपा में शामिल हुए थे। एक बड़े अख़बार दैनिक भास्कर के पास वह सबूत हाथ लगे हैं जिस पर एसडीएम अनुराग तिवारी ने आरोपी सीताराम महंत को रूम नंबर 4 अलॉट कराया था. यानी साफ है कि अफसर अब इस मामले को दबाने में जुट गए हैं। सर्किट हाउस बुक कराने में जिस मंत्री का नाम आ रहा है, वह दो साल पहले ही कांग्रेस छोड़कर भाजपा में शामिल हुए थे।

आरोपी 1 महंत सीताराम दास : 

सीताराम दास उर्फ समर्थ त्रिपाठी ने साथियों के साथ शराब पार्टी की। 

रीवा के सर्किट हाउस में 16 साल की लड़की से रेप किया।

आरोपी 2 विनोद पांडे :

सतना से लड़की को रीवा के सर्किट हाउस बुलाया। महंत के लिए शराब पार्टी का इंतजाम भी इसी ने  किया था। 

आरोपी 3 संजय त्रिपाठी :

रेप के आरोपी महंत को अपने फार्म हाउस में छुपाया। सीधी तक पहुंचाने में मदद की।

आरोपी 4 अंशुल मिश्रा:

इसके कहने पर विनोद के नाम सर्किट हाउस में कमरा बुक हुआ था। संजय त्रिपाठी का भांजा भी है।

आरोपी 5 मोनू मिश्रा : 

रीवा के दुआरी से भितरी तक महंत को कार से छोड़ा। रेप की घटना के दिन कार से चखना आदि लेकर आया था। 

आरोपी 6 तौफीक अंसारी:

बाइक से महंत को भितरी से सीधी के रामपुर नैकिन तक ले गया। 10 हजार रुपए लिए, कपड़े दिए, फिर सिंगरौली की बस में बैठा दिया।

आरोपी 7 धीरेंद्र मिश्रा

महंत  सीतारामदास का पेड़ चेला है महंत के गलत काम में शुरू से अंत तक का साथ रहा।

वर्जन 

मंत्री जी के कहने पर कमरा बुक हुआ था या किसी और के कहने पर, ये अभी जांच का विषय है। एक-दो दिनों में सब साफ हो जाएगा।

-- कलेक्टर मनोज पुष्प

एसडीएम को पत्र लिखकर जानकारी मांगी है कि किसके कहने पर कमरा बुक हुआ था। वे लिखित में जो जवाब देंगे, उसी आधार पर आगे कार्रवाई करेंगे।

--- एसपी नवनीत भसीन

SDM अनुराग तिवारी कहते हैं सर्किट हाउस का कमरा नंबर 4 मैंने आवंटित नहीं किया था। विनोद पाण्डेय और उसके गुर्गे वहां जबरन कब्जा किए हुए थे।

7 आरोपी गिरफ्तार, 1 फरार

सिविल लाइन थाना प्रभारी निरीक्षक हितेन्द्रनाथ शर्मा की मानें तो सर्किट हाउस रेप कांड में अब तक 7 गिरफ्तारियां हो चुकी है। जिसमे महंत सीताराम दास, विनोद पाण्डेय, संजय त्रिपाठी, अंशुल मिश्रा, तौफीक अंसारी, पप्पू शुक्ला सहित मोनू पयासी का नाम शामिल है। वहीं 1 आरोपी और धीरेन्द्र मिश्रा अभी भी फरार है। 

SDM भी झूठ बोल रहे, सबूत हैं हमारे पास

जिस कमरे में सतना की नाबालिग के साथ महंत सीताराम दास उर्फ समर्थ त्रिपाठी ने दुष्कर्म किया, वह कमरा हिस्ट्रीशीटर विनोद पाण्डेय के नाम पर अलॉट हुआ था। एक बड़े अख़बार दैनिक भास्कर के पास मौजूद सर्किट हाउस की बुकिंग के रिकॉर्ड में लिखा है कि कमरा SDM अनुराग तिवारी द्वारा विनोद पाण्डेय को आवंटित किया गया है।

यह भी पढ़े 

हवस के पुजारी महंत के दारू पार्टी का वीडियो वायरल : रेप करने से पहले की थी शराब पार्टी, कई सवालों के घेरे में कानून?








Powered by Blogger.